motivational blog, inspirational, goal setting, life coch, etc

Friday, 1 December 2017

अपने डर पर जीत हासिल कर बनें एंटरप्रेन्योर

अपने डर पर जीत हासिल कर बनें एंटरप्रेन्योर

आपने वह विज्ञापन देखा होगा जिसमें कहा गया है कि दर सबको लगता है लेकिन जीतता वही है जो अपने डर का सामना करता है।  ऐसा ही कुछ बिजनेस में भी होता है। ब्यूरो ऑफ़ लेबर स्टेटिस्टिक्स के अनुसार करीब 50 प्रतिशत छोटे बिजनेस पहले चार वर्षों में ही विफल हो जाते है क्योंकि लोग डरे हुए होते हैं या चुतौतियों से डर जाते हैं। हो सकता है कि एक एंटरप्रेन्योर के तौर पर आपको लगे कि सारी जिम्मेदारी आप पर है और आप डरकर पीछे हट जाएं। हालांकि , सफल एंटरप्रेन्योर्स वही होते हैं तो डर से कभी नहीं डरते बल्कि अपने डर को हराते  हुए  हमेशा आगे बढ़ते हैं --

अपने डर पर जीत हासिल कर बनें एंटरप्रेन्योर

विफलता का डर --

सफलता के लिए विफलता के डर को दूर करना होगा। इस दुनिया में सिर्फ एक चीज़ है जो आपको अपने सपनों को पूरे करने में और सफल होने से रोक सकती है और वह है विफलता का डर।  ऐसा कोई शख्स नहीं है जो विफल होना चाहे लेकिन बिजनेस में ऐसा कई बार होता है जब आप विफल होते हैं और आपको उस विफलता को स्वीकार करना पड़ता है।  सभी एंटरप्रेन्योर्स के साथ ऐसा होता है लेकिन सफल वही होता है जो अपनी विफलता में कुछ अर्थ खोज लेता है और उससे कुछ सीख लेता है। अगर आप एक सफल एंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं तो आपको विफलता के बजाय सफलता पर ध्यान लगाना चाहिए।

फोकस की कमी का डर --

जब आप अपना खुद का बिजनेस करते हैं तो आपको किसी और के प्रति नहीं बल्कि खुद के प्रति जवाबदेह होना पड़ता है। हो सकता है दूसरे लोग आप पर निर्भर करते हों और आपको उन्हें ट्रैक पर रखना होता हो।  ऐसे में आपका फोकस पूरी तरह से अपने लक्ष्य और जो काम आपके हाथ में है , उस पर होना चाहिए।  एक एंटरप्रेन्योर होने के नाते अगर आप अपनी फोकस खों देंगे और खुद को अनुशासन में नहीं रखेंगे तो आप अपने लक्ष्य से दूर होते जायेंगे। हो सकता है कि आपको यह डर हो कि पता नहीं आप फोकस्ड रह पाएंगे या नहीं लेकिन सफल होने के लिए आपको अपने इस डर को दूर करना ही होगा।

रिस्क का डर --

बहुत से लोग होते हैं जिन्हें रिस्क लेने में डर लगता है और इसलिए वह पूरी जिंदगी एक तय पैटर्न पर ही चलते रहते हैं।  वह कुछ नया करने की कोशिश तक नहीं करते।  अगर आप भी ऐसे हैं तो जान लें कि आप कभी एक सफल एंटरप्रेन्योर नहीं बन सकते।  सफलता हासिल करने के लिए आपको अपने इस डर को दूर करना होगा और रिस्क लेनी होगी।  यह रिस्क ही आपको सफल बनाएगी।

खोने का डर --

एंटरप्रेन्योर्स अपने आईडियाज़ पर निर्भर होते हैं। उनकी रचनात्मकता और विजन ही उनके बिजनेस की नींव रखता है।  इनके बिना एक एंटरप्रेन्योर कभी आगे नहीं बढ़ सकता।  ऐसे में यह डर लाजिमी है कि कहीं वक़्त के साथ आपकी रचनात्मकता खो न जाये।  अपने इस डर को दूर करने के लिए आपको खुद को क्रिएटिव बनाये रखना चाहिए।

आर्थिक तंगी का डर --

एक एंटरप्रेन्योर के तौर पर आप किसी नियमित सैलरी या जॉब पर निर्भर नहीं होते।  साथ ही अपने बिजनेस में अपनी बचत के पैसे भी लगा दिए होते हैं।  ऐसे में कई बार आर्थिक तंगी का डर आपको सता सकता है।  हालांकि, अगर आप वाकई अपने आईडिया पर विश्वास करते हैं तो आपको पैसे के बजाय अपने विजन का पीछा करना चाहिए।  आप देखेंगे कि आपको पैसों की कमी नहीं होगी।

अगर आपको विफलता से डर लगता है तो यह जान लें कि  यह डर आपको कभी सफल नहीं होने देगा और न ही आगे बढ़ने देगा।  अगर आप सफल एंटरप्रेन्योर बनना चाहते हैं तो आपको अपने डर पर जीत हासिल करनी होगी।

पॉपुलर पोस्ट -

सफलता के लिए जीवन में गलतियां जरूरी है

सफलता  के लिए जरूरी है प्रॉब्लम सॉल्विंग 




आप अपना अनुभव हमसे साझा  नीचे  कमेंट्स करके कर सकते हैं। अगर कोई कमी रह गई हो तो बेझिझक बता सकते हैं ताकि हमारे भविष्य के पोस्ट बेहतर हो।  आप किसी के बारे में जानना चाहते हैं तो कमेंट्स  में जरूर बताइये कोशिश करेंगे आप तक पहुचाने की।  आखिर में , अगर आपको ये पोस्ट लाभदायक लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करना ना भूलें। धन्यवाद। जय हिन्द।  .......

0 Please Share a Your Opinion.:

Post a Comment

Connect us on social media

Ad

Popular Posts

Translate

Recent Posts

book