motivational blog, inspirational, goal setting, life coch, etc

Wednesday, 29 November 2017

सफलता के लिए जीवन में गलतियां जरूरी है

सफलता के लिए जीवन में गलतियां जरूरी है

यदि हम अपने जीवन में छोटी गलतियों को भी नजरअंदाज न करें तो हमारी गलतियां जिंदगी  में बहुत बड़ा बदलाव कर सकती है। जरा सोचो कि हम एक बहुत महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं। हमने तैयारी की , अभ्यास किया , अपना बेस्ट देने की कोशिश की और काम अच्छा होगा इसको लेकर हम पूरी तरह से आशावादी हैं और वह वक़्त आ गया जब परिणाम की घडी आ गई। लेकिन यह क्या ? जो भी सोचा था उसका उल्टा हो गया ,हमारी प्लान में कुछ गलतियां हो गई और उसी गलती का परिणाम यह हुआ कि  हमारा बहुत महत्वपूर्ण काम वैसा नहीं हुआ ,जैसा हम सोच रहे थे। हम पर गलती करने का ठप्पा लग गया। अब क्या करें ?हम मानसिक रूप से टूट चुकें हैं। बाहरी रूप से लोग कुछ भी कहें , लेकिन वास्तविकता यह है इतनी बड़ी गलती होने पर ज्यादा तर लोग दूसरा बड़ा कदम बढ़ाने से घबरा जायेंगे और उसके बाद शुरू होगा रिस्क न लेने का सफर जो पूरी जिंदगी ख़त्म ही नहीं होता है। यदि इस मानसिकता को उल्टा कर दिया जाये और कुछ खास तरीके अपना कर हम अपने जीवन में अभ्यास करें तो गलती को लेकर हमारी सोच पूरी तरह बदल जाएगी।
सफलता के लिए जीवन में गलतियां जरूरी है

गलतियां  हर बार नई होनी चाहिए --

यदि हार बार हमारी गलतियां नई है तो इसका मतलब है कि हम आगे बढ़ रहे हैं अनुभव में , नए तरीकों जानने में ,साहस में और साथ ही हम उस भीड़ से अलग हो रहे हैं ,जिसमें ज्यादातर लोग गलती करने के बाद रूक जाते हैं। अब चाहे वह गलती कैरियर में हो ,रिश्तों में हो , व्यापार में हो या कुछ नया करने में हो। यह तो तय है कि उसके बाद एक अनुभव मिला है और यह अनुभव अमूल्य है। इस अनुभव को अपने आगे बढ़ने का , अपने चलने का अपने गतिशील रहने का सूचक मानें यानी कि आप कुछ कर रहे हैं। और हां हर बार गलती में नयापन तो होना ही चाहिए , ताकि हम गलती करते -करते बोर ना हों और हमारे सीखने में नयापन हो।  आप गलती कर रहे हो। बधाई हो।  आप सही करने की कोशिश कर रहे हो।

गलतियों के बारे में बात करें --

हम अक्सर अपनी गलतियों को छुपातें हैं और इससे हम हमेशा डरे रहते है। यदि हम उनको लोगों को बताना शुरू कर दें तो यह एक मजेदार अनुभव साबित हो सकता है।  इससे आपका आत्मविश्वाश बढ़ने लगेगा और आप अपने व्यवहार में संकोच या घबराहट की बजाय खुलापन , निडरता और धैर्य की उपस्थिति पाएंगे।  उन अनुभवों को साझा करने से आपके साथ -साथ अन्य लोग भी सीखेंगे और धीरे -धीरे आप सेल्फ मोटिवेट होने लगेंगे।  पर हाँ , एक बात का ध्यान रखनी है कि अपनी गलतियां उनसे शेयर करें जो उत्साहित व मोटिवेट करें , नकारात्मक लोगों से नहीं। निगेटिव लोगों से बचकर ही रहें।

सीखने की महत्वकांक्षा हो --

किसी भी काम को करते वक़्त यदि यह नजरिया बना लिया जाये कि यह काम हर हाल में मेरे अनुभव को बढ़ाने वाला है। यदि यह सही हुआ तो मैं यह सीखूंगा कि कौन से तरीके सही हैं और गलत हुआ तो यह सीखूंगा कौन से तरीके सही नहीं है पर दोनों ही हालातों में सीखूंगा। गलती होने पर भी आगे बढूंगा और सही होने पर भी पर अपने प्लान को रुकने नहीं दूंगा।  मुझे पता है कि किसी भी कार्य को करते वक़्त ठीक होना या गलत होना दोनों की संभावनाएं हैं।  मेरे लिए गलती की परिभाषा है सीखना।  अगर आपके अंदर सिखने की महत्वाकांक्षा होगी तो फिर आपको सफलता जरूर मिलेगी।

आप अपना अनुभव हमसे साझा  नीचे  कमेंट्स करके कर सकते हैं। अगर कोई कमी रह गई हो तो बेझिझक बता सकते हैं ताकि हमारे भविष्य के पोस्ट बेहतर हो।  आप किसी के बारे में जानना चाहते हैं तो कमेंट्स  में जरूर बताइये कोशिश करेंगे आप तक पहुचाने की।  आखिर में , अगर आपको ये पोस्ट लाभदायक लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ इसे शेयर करना ना भूलें। धन्यवाद। जय हिन्द।  .......

0 Please Share a Your Opinion.:

Post a Comment

Connect us on social media

Ad

Popular Posts

Translate

Recent Posts

book